Breaking News

क्या जंग की तैयारी कर रहा पाकिस्तान? टेस्ट किया 140 किमी रेंज वाला फतह-1 रॉकेट सिस्टम


हाइलाइट्स:

  • भारत की रक्षा तैयारियों से डरा पाकिस्तान चीन के साथ मिलकर बना रहा नए हथियार
  • गुरुवार को फतह-1 गाइडेड मल्टी लॉन्च रॉकेट सिस्टम का किया परीक्षण
  • भारत को टू फ्रंट वॉर में उलझाना चाहते हैं चीन और पाकिस्तान, कर रहे तैयारी

इस्लामाबाद
लद्दाख में चीन से जारी तनाव के बीच पाकिस्तान भी एलओसी पर युद्ध की तैयारी कर रहा है। चीन की एयरफोर्स के साथ 20 दिनों तक शाहीन-9 युद्धाभ्यास करने के बाद पाकिस्तान ने अब फतह-1 गाइडेड मल्टी लॉन्च रॉकेट सिस्टम को टेस्ट किया है। पाकिस्तानी सेना की प्रोपगेंडा विंग आईएसपीआर ने एक वीडियो जारी करते हुए दावा किया है कि फतह-1 रॉकेट 140 किलोमीटर की दूरी तक मार करने में सक्षम है। आशंका जताई जा रही है कि इस रॉकेट सिस्टम को बनाने के लिए चीन ने पाकिस्तान की सहायता की है।

मिसाइल से संबंधित जानकारियों को छिपाया
इस रॉकेट सिस्टम के बारे में पाकिस्तान ने और कोई जानकारी साझा नहीं की है। इसलिए, आसानी से पाकिस्तान के दावे पर विश्वास भी नहीं किया जा सकता है। जिस वीडियो को पाकिस्तानी सेना ने शेयर किया है वह कुल मिलाकर केवल 15 सेकेंड का ही है। जिसके पहले भाग में एक रॉकेट अपने लॉन्चर से फायर होता दिखाई देता है। दूसरे भाग में कोई मिसाइल एक पोल पर लगे झंडे से लगभग 5 से 10 फीट की दूरी पर गिरती दिखाई देती है। इस टेस्ट को कहां किया गया है, इसे लेकर भी पाकिस्तानी सेना की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है।

भारत पर बौखलाया हुआ है पाकिस्तान
भारत के लगातार मिसाइल परीक्षण से बौखलाया पाकिस्तान पहले तो सर्जिकल स्ट्राइक का राग अलाप रहा था। जब दुनिया ने पाकिस्तान की एक न सुनी तब उसने अपने देश में आतंक फैलान के लिए भारत को दोषी बताना शुरू किया। हाल में ही बलूचिस्तान में पाकिस्तान आर्मी पर हुए हमले और शिया खनिकों पर हुए आतंकी हमले में इमरान खान भारत का हाथ बताते हुए नहीं थक रहे हैं।

2020 में भारत ने लगभग 40 मिसाइलों को किया टेस्ट
भारत के डिफेंस रिसर्च सेक्‍टर के लिए साल 2020 बेहद सफल साबित हुआ। डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने इतनी मिसाइलें टेस्‍ट कर डालीं कि पिछले सारे रेकॉर्ड टूट गए। 2020 में तीन दर्जन से भी ज्‍यादा मिसाइल्‍स का सफल टेस्‍ट हुआ है। देश की पहली न्‍यू जेनरेशन ऐंटी रेडिएशन मिसाइल (NGARM) का सफल टेस्‍ट 9 अक्‍टूबर को किया गया। भारत ने 23 सितंबर और फिर 16 अक्‍टूबर को परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम और स्वदेशी ‘पृथ्वी-2’ मिसाइल का सफल ट्रायल किया। सुपरसोनिक असिस्‍टेंट रिलीज ऑफ टॉरपीडो यानी SMART मिसाइल का सफल टेस्‍ट 5 अक्‍टूबर को हुआ था। अर्जुन टैंक से 1 अक्टूबर को एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को टेस्ट किया।

भारत से टू फ्रंट वॉर की तैयारी में चीन-पाकिस्तान
चीन और पाकिस्तान अब टू फ्रंट वॉर रणनीति का सहारा लेना चाहता है। भारत के पश्चिम में सबसे बड़ा दुश्मन पाकिस्तान बैठा है और दूसरी ओर विस्तारवादी सोच रखने वाला चीन। भारत दोनों देशों के बीच फंसा हुआ है। दोनों ही देशों से भारत की सीमाएं सटी हुई हैं और दोनों से ही विवाद चरम स्तर पर रहता है। ऐसे में अब चीन की रणनीति एक तरफ से खुद की सेना के जरिए भारत को घेरने की है, जबकि दूसरी तरफ से पाकिस्तान को उकसा रहा है। ऐसे भारत की सेना पश्चिमी और पूर्वी दो मोर्चो पर जंग में व्यस्त हो जाएगी।



Source link